उदयपुर हत्याकांड से भाजपा का सीधे तौर पर संबंध, अभिषेक बनर्जी ने फोटो ट्वीट कर बोला हमला

Abhishek Banerjee
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
तृणमूल कांग्रेस महासचिव अभिषेक बनर्जी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘‘नहीं, वे (भाजपा) एकता नहीं चाहते। नहीं, वे सद्भावना नहीं चाहते। नहीं, वे लोकतंत्र नहीं चाहते। वे राष्ट्र को बांटना चाहते हैं। ’’ उन्होंने कहा, ‘‘नफरत फैलाने , दुष्प्रचार करने और विभाजनकारी राजनीति करने के लिए जिम्मेदार भाजपा का उदयपुर की खौफनाक घटना से सीधा संबंध है।’’

कोलकाता। तृणमूल कांग्रेस महासचिव अभिषेक बनर्जी ने शनिवार को आरोप लगाया कि उदयपुर में हुई नृशंस हत्या की घटना से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का सीधे तौर पर संबंध है और भाजपा देश को विभाजित करने के लिए नफरत फैला रही है। बनर्जी ने एक ट्वीट में, दर्जी कन्हैयालाल की बर्बर हत्या के एक आरोपी की दो तस्वीरें संलग्न की, जिनमें आरोपी अतीत में भाजपा के स्थानीय पदाधिकारियों के साथ कथित तौर पर नजर आ रहा है। तृणमूल कांग्रेस नेता ने भाजपा पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘‘नहीं, वे (भाजपा) एकता नहीं चाहते। नहीं, वे सद्भावना नहीं चाहते। नहीं, वे लोकतंत्र नहीं चाहते। वे राष्ट्र को बांटना चाहते हैं। ’’

इसे भी पढ़ें: कन्हैया लाल की हत्या के आरोपियों पर फूटा लोगों का गुस्सा, पेशी के दौरान गुस्साई भीड़ ने बरसाए थप्पड़, जूते और चप्पल 

उन्होंने कहा, ‘‘नफरत फैलाने , दुष्प्रचार करने और विभाजनकारी राजनीति करने के लिए जिम्मेदार भाजपा का उदयपुर की खौफनाक घटना से सीधा संबंध है।’’ एक तस्वीर में हत्या का एक आरोपी भाजपा के एक स्थानीय नेता के साथ एक भगवा पगड़ी पहने नजर आ रहा है पार्टी के चुनाव चिह्ल कमल निशान वाला अंगवस्त्र धारण किये हुए है। तस्वीर में दिख रहे कम से कम तीन अन्य व्यक्ति इसी तरह के अंगवस्त्र धारण किये नजर आ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: दर्जी की हत्या का आरोपी ‘भाजपा का सदस्य’ नहीं : भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा 

एक अन्य समूह तस्वीर में आरोपी उन लोगों के एक समूह के साथ तस्वीर खिंचवाते नजर आ रहा है, जो भगवा अंगवस्त्र धारण किये हुए हैं। तीसरी तस्वीर में आरोपी एक धारदार हथियार दिखाता नजर आ रहा है। हालांकि, पीटीआई-ने इन तस्वीरों की सत्यता को स्वतंत्र रूप से सत्यापित नहीं किया है। उल्लेखनीय है कि कन्हैयालाल की मंगलवार दोपहर दो व्यक्तियों ने हत्या कर दी थी। उन्होंने घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर भी डाल दिया था। घटना के कुछ ही घंटों के बाद आरोपी रियाज अख्तरी और गौस मोहम्मद को गिरफ्तार कर लिया गया था।

Disclaimer:प्रभासाक्षी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।


नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़