'हमारे पास है पूर्ण बहुमत, विधायकों की संख्या में भी हो रहा इजाफा', CM शिंदे बोले- राज्यपाल ने 3-4 जुलाई को बुलाया है सत्र

Eknath Shinde
प्रतिरूप फोटो
ANI Image
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि आज मेरी विधायक दल के साथ बैठक हुई है। मैं मुंबई जा रहा हूं, मुंबई में तेज बारिश हो रही है। मुंबई अतिवृष्टि से प्रभावित न हो इसलिए राज्य सरकार, मुंबई कॉरपोरेशन के कमिश्नर से मैंने मुलाकात की है। आपदा प्रबंधन काम कर रहा है।

मुंबई। महाराष्ट्र में सियासत का नया अध्याय लिखा जा रहा है। राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने एकनाथ शिंदे को मुख्यमंत्री पद और देवेंद्र फडणवीस को उपमुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई है। इसके बाद दोनों नेताओं ने बीती रात को नई सरकार की पहली कैबिनेट बैठक की और राज्य में चल रहे कार्यों की समीक्षा की। इसी बीच मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे का बयान सामने आया। जिसमें उन्होंने कहा कि हमारे पास विधानसभा में पूर्ण बहुमत है। 

इसे भी पढ़ें: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उद्धव सरकार के पतन को लेकर कांग्रेस नेता कमलनाथ पर कटाक्ष किया 

शिंदे कैंप में बढ़ रही विधायकों की संख्या

मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने समाचार एजेंसी एएनआई के साथ बातचीत में कहा कि आज मेरी विधायक दल के साथ बैठक हुई है। मैं मुंबई जा रहा हूं, मुंबई में तेज बारिश हो रही है। मुंबई अतिवृष्टि से प्रभावित न हो इसलिए राज्य सरकार, मुंबई कॉरपोरेशन के कमिश्नर से मैंने मुलाकात की है। आपदा प्रबंधन काम कर रहा है।

उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार किसानों के जीवन में बदलाव लाने के लिए प्रतिबद्ध है। हम राज्य में विकास कार्यों को आगे बढ़ाएंगे। इसी बीच उन्होंने विधायकों के बारे में जानकारी दी। मुख्यमंत्री ने बताया कि बाकी विधायक कल मुंबई आएंगे। राज्यपाल ने 3-4 जुलाई को सत्र बुलाया है। हमारे पास 170 विधायक हैं और बढ़ रहे हैं। हमारे पास विधानसभा में पूर्ण बहुमत है। 

इसे भी पढ़ें: पहले नहीं हैं फडणवीस, जब शिंदे कर रहे थे CM बनने का इंतजार और कुर्सी विलास राव देशमुख को मिल गई थी 

विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र

महाराष्ट्र विधानसभा का दो दिवसीय विशेष सत्र 3 जुलाई से शुरू होगा। माना जा रहा है कि सत्र के दौरान विश्वास प्रस्ताव पर भी मतदान होने की संभावना है। एकनाथ शिंदे के पास शिवसेना के बागी समूह के 39 विधायकों, निर्दलीय एवं छोटे दलों के 10 विधायकों और भाजपा के 106 विधायकों का समर्थन है। एकनाथ शिंदे 2 दिवसीय सत्र के दौरान सदन के पटल पर विश्वास प्रस्ताव पेश कर सकते हैं।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़