'रोज सुबह बजने वाला भोंपू हो गया बंद', संजय राउत की गिरफ्तारी पर एकनाथ शिंदे ने कसा तंज

Eknath Shinde
ANI Image
अनुराग गुप्ता । Aug 01, 2022 12:09PM
मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने कहा कि रोज सुबह 8 बजे बजने वाला भोंपू बंद हो गया है। इससे पहले उन्होंने कहा था कि संजय राउत ने घोषणा की है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है। यदि ऐसा है तो जांच से डर क्यों रहे हैं? इसे होने दीजिए। यदि बेकसूर हैं तो किस बात का डर है?

मुंबई। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने शिवसेना सांसद संजय राउत पर सोमवार को बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि रोज सुबह बजने वाला भोंपू बंद हो गया। दरअसल, प्रवर्तन निदेशालय ने पात्रा चॉल घोटाले से जुड़े एक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में संजय राउत को गिरफ्तार किया है। जिसके बाद सियासत तेज हो गई और सत्तापक्ष से लेकर विपक्षी दलों के बयान सामने आ रहे हैं।

इसे भी पढ़ें: संजय राउत की गिरफ्तारी को लेकर खड़गे ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- वो संसद को करना चाहते हैं विपक्ष मुक्त

एकनाथ शिंदे ने कहा कि रोज सुबह 8 बजे बजने वाला भोंपू बंद हो गया है। इससे पहले उन्होंने कहा था कि संजय राउत ने घोषणा की है कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है। यदि ऐसा है तो जांच से डर क्यों रहे हैं ? इसे होने दीजिए। यदि बेकसूर हैं तो किस बात का डर है ?

भाजपा नेता किरीट सोमय्या ने कहा कि अनेक लोगों को जेल में डालने की धमकी देने वाले संजय राउत को आज जेल में भेजा जा रहा है। सत्यमेव जयते। वहीं भाजपा नेता नीतेश राणे ने कहा कि संजय राउत हमारी हर सुबह खराब कर देते थे। ईडी के उनके घर पर छापेमारी के बाद उनकी सुबह खराब हो गई है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि वो ईडी की इस कार्रवाई से बेहद संतुष्ट हैं।

इसे भी पढ़ें: शिवसेना सांसद संजय राउत की गिरफ्तारी के खिलाफ सदन में हंगामे के आसार, कांग्रेस भी समर्थन में उतरी

संजय राउत की हुई गिरफ्तारी

पात्रा चॉल घोटाले से जुड़े एक मनी लॉन्ड्रिंग मामले में प्रवर्तन निदेशालय ने संजय राउत को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा जांच एजेंसी को संजय राउत के आवास से 11.50 लाख रुपए मिले, जिसे जब्त कर लिया गया है। सूत्रों ने बताया कि संजय राउत के आवास से मिले बेहिसाबी नकदी को जब्त किया गया है।

नोट:कोरोना वायरस से भारत की लड़ाई में हम पूर्ण रूप से सहभागी हैं। इस कठिन समय में अपनी जिम्मेदारी का पूर्णतः पालन करते हुए हमारा हरसंभव प्रयास है कि तथ्यों पर आधारित खबरें ही प्रकाशित हों। हम स्व-अनुशासन में भी हैं और सरकार की ओर से जारी सभी नियमों का पालन भी हमारी पहली प्राथमिकता है।

अन्य न्यूज़